शुक्रवार, जुलाई 24

Mohabbat Shayari in Hindi - बेस्ट मोहब्बत शायरी in हिंदी | Shayari Mohabbat

Mohabbat shayari

Mohabbat Shayari in Hindi | Mohabbat bhari shayari | Ishq mohabbat shayari | बेस्ट मोहब्बत शायरी Bepanah mohabbat shayari in hindi | Mohabbat bhari shayari hindi me | Mohabbat shayari hindi

✳️
Rishto me itni berukhi bhi achhi nahi hujur
Ki kahi manane wala hi Ruth nahi jaye tumse

रिश्तो में इतनी बेरुखी भी अच्छी नहीं हुजुर
की कही मानाने वाला ही रूठ नहीं जाए तुमसे
✳️
Yu to bahut duriya hai hamare bich
Magar sach kahu to
Tumse karib is duniya me mere aur koi bhi nahi
mohabbat shayari in hindi font
यूँ तो बहुत दूरिया है हमारे बीच
मगर सच कहु तो
तुमसे क़रीब इस दुनिया में मेरे और कोई भी नही
✳️
Ak waqt tha jab uske name sunte hi muskara dete the ham
Ak waqt ye hai ki uska jikr hote hi ham bat badal dete hai

एक वक़्त था जब उसके नाम सुनते ही मुस्करा देते थे हम
एक वक़्त ये है की उसका जिक्र होते ही हम बात बदल देते है
✳️
Log kahte hai ki ham muskrate bahut hai
Aur ham thak gaye apna dard chhupate chhupate
Mohabbat bhari shayari
लोग कहते है की हम मुस्कराते बहुत है
और हम थक गए अपना दर्द छुपाते छुपाते
✳️
Maine kaha tha rango se ishq hai mujhe
Fir jamane ne mujhe har rang dikhaye

मैने कहा था रंगो से इश्क़ है मुझे
फिर ज़माने ने मुझे हर रंग दिखाए
✳️
Aap to hasne lage mujh par
Mujhe to laga tha ki aap samjhenge hame
Ishq mohabbat shayari
आप तो हँसने लगे मुझ पर
मुझे तो लगा था की आप समझेंगे हमे
✳️
Bade sukun se rahte hai ajkal vo hamare din
Jaise kisi uljhan se chhutkara mil gaya ho unhe

बड़े सुकून से रहते है आजकल वो हमारे दिन
जिसे किसी उल्झन से छुटकारा मिल गया हो उन्हें
✳️
Taklif to kabhi ho mujhe sochne me tumko
Lamha bhi na lagana mujhe bhul jana tum
Bepanah mohabbat shayari in hindi
तकलीफ़ तो कभी हो मुझे सोचने में तुमको
लम्हा भी न लगाना मुझे भूल जाना तुम
✳️
Labj kya khak bolegi janab
Jo dil pe gujri hai vo dil hi janta hai

लब्ज क्या खक बोलेगी जनाब
जो दिल पे गुजरी है वो दिल ही जनता है
✳️
Jajba rakho sach aur jhuth ko parakhne ka
Kano me jahar gholne ka kam to jamane ka hai
Mohabbat bhari shayari hindi me
जज्बा रखो सच और झूठ को परखने का
कानो में ज़हर घोलने का कम तो ज़माने का है
✳️
Mohhabat me kabhi jabardasti nahi hoti
Jab apka dil chahe tab mere ho jana

मोह्हबत में कभी जबरदस्ती नहीं होती
जब आपका दिल चाहे तब मेरे हो जाना
✳️
Jab koi dil dukhaye to
Ye soch kar sabr kar lena
Ki jise ham javab nahi dete use waqt javab deta hai
Mohabbat shayari hindi
जब कोई दिल दुखाए तो
ये सोच कर सबर कर लेना
की जिसे हम जवाब नहीं देते उसे वक़्त जवाब देता है
✳️
Kabhi kabhi ham kisi ke liye
Itna jaruri bhi nahi hote
Jitna ki ham soch liya karte hai

कभी कभी हम किसी के लिए
इतना जरुरी भी नहीं होते
जितना की हम सोच लिया करते है
✳️
Thoda thahar ke susta le ye jindagi
Yakinan thak gayi hogi tu mujhe rulate rulate
Mohabbat shayari 2 lines
थोड़ा ठहर के सुस्ता ले ये जिन्दगी
याकिनान तक गई होगी तू मुझे रुलाते रुलाते
✳️
Bitani to ak umr hai tere bagair
Magar gujarta tere bin ak lamha tak nahi

बितानी तो एक उम्र है तेरे बगैर
मगर गुजरता तेरे बिन एक लमहा तक नही
✳️
Aab tut gaya dil to bawal kya kare
Khud hi kiya tha pasand to aab sawal kya kare
Mohabbat shayari sms
अब टूट गया दिल तो बवाल क्या करे
खुद ही किया था पसंद तो अब सवाल क्या करे
✳️
Hamne chahre par aksar muskrahat rakh kar
Aiyno ko hamesa gumrah kiya hai

हमने चेहरे पर अक्सर मुस्कराहट रख कर
आईनो को हमेसा गुमराह किया है
✳️
Niyate ke khel bhi dekho kitne nirale hai
Kisi paw me jute to kisi paw me chhale hai
mohabbat shayari in hindi
नियते के खेल भी देखो कितने निराले है
किसी पावँ में जूते तो किसी पावँ में छाले है
✳️
Dosti hai ishq hai ya kuchh aur mujhe ye to pata nahi
Par jo tumse hai vo kisi aur se nahi

दोस्ती है इश्क़ है या कुछ और मुझे ये तो पता नही
पर जो तुमसे है वो किसी और से नही
✳️
Likhna to tha ki bahut khush hai tere bagair
Magar kambakht anshu hai ki kalam se pahle chal diye
mohabbat shayari in hindi
लिखना तो था की बहुत खुश है तेरे बगैर
मागर कम्बख्त अंशु है की कलम से पहले चल दिए

✳️Good Night Shayari✳️


✳️Gulazar Shayari✳️

सोमवार, जुलाई 6

Mohabbat Shayari in Hindi - बेस्ट मोहब्बत Poem Poetry in हिंदी


Mohabbat Shayari in Hindi

Mohabbat Shayari in Hindi | Mohabbat Hindi Poetry Hindi | Hindi Mohabbat Poem Latest


कि इश्क का ख्वाब देख रहे हो । नादान हो इश्क का ख्वाब देख रहे हो जो चकनाचूर हो चुका है । इश्क में मैं वो इश्क का टूटा हुआ ख़्वाब हूँ इश्क का ख्वाब देख रहे हो जो चकनाचूर हो चुका है इश्क में मैं वो इश्क का टूटा हुआ ख्वाब हूं और ज्यादा मोहब्बत का ज्ञान मत देना मुझे में इश्क में तुम्हारा भी बापू । हूँ। 

कि जब बात आएगी मोहब्बत की तो खुद को बेवफा तुझको वफादार बता दूंगा । जब बात आएगी मोहब्बत की तो खुद को बेवफा तुझको वफादार बता दूंगा । तू आज भी मुझे मिल जाना मैं बीच चौराहे पर तेरी मांग सजा दूंगा और क्या कह रही हो मेरा रकीब शेर है जंगल का क्या कह रही हो मेरा रकीब शेर है जंगल का औकात पे आ गया तो गले में पट्टा डाल के सर्कल बना दूंगा । 

कि मैं टूट चुका था अंदर से कि मैं टूट चुका था अंदर से । और वो बवाल कर रही थी कि मैं टूट चुका था अंदर से और वो बवाल कर रही थी । एक लड़की एक दिलजले से दिल्लगी का सवाल कर रही थी ।

Mohabbat Shayari in Hindi - मोहब्बत हिंदी शायरी

कि मेरे इश्को में जो दर्द हैं उनकी मीठी बातों में वो बात नहीं कि मेरे इश्को में जो दर्द हैं उनकी मीठी बातों में वह बात नहीं और क्या कहा मेरे जितना चाह लेंगे तुझे उतना ही नमूनों की औकात नहीं ।

की मुंह पे करते हैं भेजती के मुंह पे करते हैं बेज्जती और पीठ पीछे करते हैं बढ़ाई के मुंह पे करते हैं बेज्जती और पीठ पीछे करते हैं बड़ाई और दूसरा कोई कुछ करके तो दिखाएं won the sport कर लेते हैं लड़ाई । 

कि खुदा भी खुश हुआ मेरी खिदमत से कहने लगा दे दूंगा तुझे आसमां धरती के खुदा भी खुश हुआ मेरी खिदमत से कहने लगा जा दे दूंगा तुझे आसमां धरती । मैंने कहा दुनिया की दौलत नहीं चाहिए मुझे बस मेरी जिंदगी से वो दिन निकाल देना जब रखनी हो मेरे घर के बाहर मेरी मां की अर्थी ।

Mohabbat Hindi Poetry Hindi - बेस्ट मोहब्बत Poetry हिंदी

की यारों मैं ये नहीं कहता कि मेरा प्यार दो मुझे यारों मैं ये नहीं कहता कि मेरा प्यार दो मुझे बस उसकी शादी होने से पहले ही मार दो मुझे । 

वो आई और चली गई ये एक थिपाक है । चलो अब मुझे एक सलाह दो । वो आई और चली गई । वो एक थिपाक है चलो अब मुझे सलाह दो । यार इतना मत गिड़गिड़ा उसके बारे में वो नहीं मानेगी । काम करूं समशान में ले के मुझे जिन्दा जला दो ।

तेरे इंतजार को दरवाजे पर टिका रखा है तेरे इंतजार को दरवाजे पर टिकाए रखा है मैंने तेरे हिस्से का हर इतवार बचा बाजार रखा है।

धूप धूल सियासी रातें धूप धूल सियासी रातें तुझे पाने की मंजिल दूर है अभी करके हर बार कोशिश हार जाना मेरा । करके हर बार कोशिश हार जाना मेरा घुट घुट के मरना हर दम । फिर भी जीने की आस है बाकी 

Hindi Mohabbat Poem Latest - मोहब्बत हिंदी Poem

जीयूँ ऐसे जैसे बहता दरिया जियूँ ऐसे जैसे बहता दरिया । ठहरा साहिल जिंदगी रुकती है तो साहिल को धुंधला सा धुआं । जियो ऐसे जैसे बहता दरिया ठहरा साहिल धुंधला सा धुआं मंजर है आँखों में धुंधले धुंधले से मंजर हैं आँखों में धुंधले धुंधले से लेकिन चाहत तो बारिश की आस बाकी है । 

लुत्फ़ उठा लेते हैं हम दर्द को मुस्कुराहट बनाकर लुत्फ़ उठा लेते हैं हम दर्द को मुस्कुराहट बनाकर इश्क तो लबों पर गुरूर से मुस्कुरा रहा है अभी। इश्क तो लबों पर गुरूर सा मुस्कुरा रहा है । अभी चल करते हैं मोहब्बत फिर से थोड़ा सा चेंज करते हैं मोहब्बत फिर से । तो अपना नाम बदल मैं अपनी पहचान । 

चल करते है मोहब्बत फिर से तू अपना नाम बदल मैं अपनी पहचान गलतफहमियों में जीते हैं फिर से गलतफहमियों में जीते हैं । फिर से तू अपना अंदाज बदल मैं अपना आगाज । 

Best Mohabbat Shayari in Hindi - मोहब्बत शायरी हिंदी में

चांदनी रात की शाभो फिर से चांदनी रात की शब्बो फिर से तू अपने अल्फाज बदल मैं अपने एहसास दुनिया से करे बगावत फिर से दुनिया से करे बगावत फिर से तू अपना रंग बदल मैं अपना ईमान।

चल अब उड़ जाते हैं खुले आसमां में फिर से चल अब उड़ जाते हैं खुले आसमां में फिर से तू फिर से अपनी रू बदल मैं बदल लू ये अपनी ये जान ।

उनकी छोटी छोटी बातों को पूरे ध्यान से सुनना । क्योंकि हर छोटी छोटी बातों को पूरे ध्यान से सुनना उनकी कही गई मुझे प्यार भरी एक लाइन को दिन में सौ बार रटना और फिर जब उन से यह कह देने से कि तुम मुझे नहीं समझते तुम मेरे प्यार को नहीं समझते । कहना तो बहुत कुछ ज्यादा ही दिल उनसे पर ये सोचकर कि कहीं उन्हें कुछ दर्द न हो जाए । अक्सर अपने जज्बातों को दिल में ही बसा लिया करती थी हा शायद मैं भी उनसे प्यार करती थी पर वैसा नहीं जिसे वो मुझसे किया करते थे । 

Mohabbat Hindi Poetry Hindi - मोहब्बत Poetry इन हिंदी

और अब उनके प्यार करने का तरीका और कुछ इस कदर हम हमसे प्यार किया करते थे की पास आने तक नहीं देते थे पास आने तक नहीं देते पर दूर भी कहा जाने देते थे । 

वो मानते थे वो मानते थे कि हा माना मैं अक्सर तुमसे रूठ कर चला जाया करता हूँ क्योंकि मुझे तुम्हारा मनाने का तरीका बेहद पसंद है । हा माना मैं तुम्हे अक्सर छोड़कर चला जाया करता हूं क्योंकि मुझे तुम्हारे रोकने का तरीका बेहद पसंद है । 

अक्सर वे बेखयाली में मैं भी तुम्हारा ख्याल किया करता हूँ अक्सर वेखयालों में मैं तुम्हारा खयाल किया करता हूं । जब मेरा भी दिल तुमसे बात करने के लिए तड़पता है लेकिन फिर ये सोचकर कि तुम ही मुझे याद कर लोगे अपने दिल को कहीं और मशहूर कर लेता हूं । हा शायद मैं भी तुमसे प्यार करता हूं पर वैसा नहीं जिसे तुम मुझसे किया करते । 

Hindi Mohabbat Poem Latest - हिंदी मोहब्बत Poem Latest

मुझे भी तुम्हारी फिक्र सताती है मुझे भी तुम्हारी फिक्र सताती है पर मैं फिक्र जाता नहीं पाता हूं मुझे तुम्हारी फिक्र सताती है मैं फिक्र जाता नहीं पाता हूं पर तू मुझसे दिल मत लगा बैठना । पर तुम मुझसे दिल मत लगा बैठना दिलफेंक आशिक हूं मैं तो तुम्हारा टूटी जायगा की ऐसी फिक्र तो मैं सभी के लिए जाताता हूँ ।

पर हो सके तो कभी मुझे छोड़कर मत जाना । पर हो सके तो कभी मुझे छोड़कर मत जाना क्योंकि मुझे तुम्हारी जरुरत है । आखिरकार मुझे ऐसा प्यार करने वाला कहां मिलेगा । हां मैं भी तुमसे प्यार करता हूं पर वैसा नहीं तुम मुझसे किया करते । 

सहमती रख ली तेरी मुझे गैर बताने में अपना । मुझे भी आजकल कोई खैर नहीं लगता । सहमति रख ली तेरी मुझे गैर बताने में अपना मुझे भी आजकल कोई खैर नहीं लगता । तुझे पहचानने से नकार रही आवाम इनकी बातों से ये तेरा शहर नहीं लगता । पर तुझे मारने की हिमाकत करता मैं मगर सुना है तेरे जिस्म को कोई ज़हर नहीं लगता । 

Mohabbat Shayari in Hindi - शायरी for मोहब्बत हिंदी

की सहमति रख ली तेरी मुझे गैर बताने में अपना मुझे भी आजकल कोई खैर नहीं लगता । तुझे पहचानने से नकार रही आवाम इनकी बातों से ये तेरा शहर नहीं लगता और तुझे मारने की हिमाकत करता मैं मगर सुना है तेरे जिस्म को कोई ज़हर नहीं लगता । 

खामोशी का अपना मजा है । लब्ज कोई बैहरा नहीं देखा जाता । तेरी आँखों पर काजल की गिरफ्त तो ठीक थी या आँसुओं का पैहरा नहीं देखा जाता । अपने हिस्से की खुशी या मैं लुटा दूं तुझ पर तेरा उतरा हुआ चेहरा नहीं देखा । 

अब मोहब्बत नहीं तुझसे मैं हर दिन खुद को बस यही समझाती हूं मलाल तो ये हैं सच जानकर भी क्यों अनजान रह जाती हूं 

तो अच्छा तुम्हे प्यार है मुझसे तो अच्छा तो तुम्हें प्यार है मुझसे तो बताओ मोहब्बत में निभा पाएंगे क्या । कुछ बताते थोड़ा अपने बारे में मैं स्वाभिमानी हूं । मैं तुम मेरा आभीमन बन पाएंगे क्या । अच्छा तो तुम्हे प्यार है न मुझसे चलो छोड़ो ये बताओ दिन के दो पल निकाल रोज मेरा हाल पता पूछ पाएंगे क्या । प्यार है तुम्हे मुझसे तो मैं बता दूं कि तुम्हे तोहफे में चॉकलेट टेडी नहीं । मुझे इज्जत और वक्त दे पाओगे । क्या

Mohabbat Hindi Poetry - मोहब्बत हिंदी Poetry 

और महत्वाकांक्षी हूँ मैं महत्वाकांक्षी हूं । मैं तूम मेरा अकंछि बन पाएंगे क्या । अच्छा तुम्हे प्यार है न मुझे तो बताओ मैं नीरू से इश्क कर उसे अपने रंग में रंग जाओगे । क्या थोड़ी अपनी मनवाकर थोड़ी मेरी सुन कर थोड़ी अपनी मनवाकर थोड़ी मेरी सुन कर मुझसे जिंदगी बिताओगे । क्या । 

क्या तुम भी मुझसे बिछड़ कर एक ढलती हुए शाम से हो गए । क्योंकि हमें शाम बहुत खूबसूरत लगती है लेकिन वो हमे अंधेरे की ओर ले जा रही होती है । क्या तुम भी मुझसे बिछड़ कर एक ढलती हुई शाम से हो गए थे यानि दिखने में खूबसूरत और अंधेरे की ओर बढ़ रहे थे । 

क्या तुम्हे भी सब अफ्ताब के तेज रोशनी की तरह आँखों में चुभ रहा था । क्या मेरी कमी से तुम्हारा भी मन मचल रहा था । क्या तुमने कभी लौटने की कोशिश की थी । क्या देख मेरी तस्वीर बीते हुए पलों पर रोशनी की थी । 

Hindi Mohabbat Poem Latest - हिंदी मोहब्बत Poem बेस्ट

आसुओं को छुपाकर नींद न पूरी होने का बहाना बनाकर आंसुओं को छुपाकर नींद न पूरी होने का बहाना बनाकर तिर्गी में हंसी बहाकर क्या तुमने भी मुझे पुकारने की कोशिश की थी कि तुम भी कुछ गुनगुनाते थे बातें हम दोनों की आइने में देख देखकर जाते थे क्या तुम भी मुझसे बिछड़कर ये ढलती हुई शाम से हो गए थे । यानी दिखने में खूबसूरत और अंधेरे की ओर बढ़ रहे थे । 

ज्ञान ही बनना था । तो प्यार क्यों बने आज्ञाकारी बनना था तो प्यार क्यों बनें मेरे असरार मेरे प्यार क्यों बने लक्ष्य तुम्हारे आज भी संभाल रखे हैं तो बस इतना बता मेरे ख्यालों से बिना जाने वाले ख्याल की बने है ।

एक बार तो सोच लिया होता । मुझे रुलाने से पहले एक बार सोच लिया होता मुझे रुलाने से पहले जो आँखें चूमते थे कभी तुम उन्हें इस तरह बिगाड़ने से पहले एक बार तो सोच लिया होता मुझे रुलाने से पहले जो जान जान कह कर पुकारते थे तुम उसी की जान इस कदर निकालने से पहले एक बार तो सोच लिया होता । मुझे रुलाने से पहले ।



रविवार, मई 10

Mohabbat shayari in Hindi - मोहाब्बत हिंदी शायरी और स्टेटस

Mohabbat shayari in hindi - Latest hindi shayari aplogo ke liye miestatus.com laya hai mujhe umid hai aaplogo ko yah mohabbat shayari bahut hi pasand aayga jis trah se is shayari ko sajaya hai aplogo ko best latest shayari mohabbat achha lage to apne dosto ke bhi jarur share kare thank you.


Mohabbat Kise Kahenge


Najre padho hamari aur Jano raaj kya hai aab agar har bat labjo me ho To mohabbat kise kahenge




नजरें पढ़ो हमारी और जानो राज क्या है आब हर हर लाबजो में हो जाए तो मोहब्बत किसे कहेंगे

Mohabbat Kahte Hai


Jo duniya ko sunai de use kahte hai khamosi aur Jo akho me dekhai de use mohabbat kahte hai   

shayari-of-mohabbat-hindi


जो दुनिया को सुनाई दे उसे कहते है खामोसी और जो आँखों में दिखाई दे उसे मोहब्बत कहते है 

ishq hai ya mohabbat


Tu Jo har roj naye husn pe mar Jata  hai Tu Jo har roj naye husn pe mar Jata hai tu batyega mujhe ishq hai ya mohabbat

mohabbat

तू जो हर रोज नए हुस्न पे मर जाता  है तू जो हर रोज नए हुस्न पे मर जाता है तू बातयेगा मुझे इश्क़ है या मोहब्ब्त

sahi mohabbat


ek bar Apni baho me sula to sahi jhutha hi magar pyar Dekha to sahi suna mangti ho rab se ki Khush na rahu Mai Jine hi chhor dunga Tu aa to sahi mohabbat

hindi-shayari-mohabbat


एक बार अपनी बाहों में सुला तो सही झूठा ही मगर प्यार देखा तो सही सुना मांगती हो रब से कि खुश न रहूँ मै जिने ही छोड़ दूंगा तू आ तो सही मोहब्बत

mohabbat hone ko


Mai tere bewafa hone se  presaan nahi hun mohabbat hone ko abhi Sara jaha baki hai

hindi-mohabbat-shayari


मै तेरे बेवफा होने से  परेशान नहीं मोहब्बत होने को अभी सारा जहाँ  बाकि है

Love shayari
Sad shayari
Breakup shayari


meri mohabbat


bina dekhe teri tasvir bna sakta hu bina mile tera haal bta sakta hu are meri mohabbat me etni takat hai ki Teri ankh ke ansu Apni ankh se nikaal sakta hu

mohabbat-shayayri-in-hindi


बिना देखे तेरी तस्वीर बना सकता हूँ बिना मील तेरा हाल बता सकता हूँ अरे मेरी मोहब्बत में इतनी सकती है कि तेरी आँख की आंसू अपने आँख से निकाल सकता हूँ

mohabbat ek juaa


 ye mohabbat ek juaa hai bataw khelogo ye mohabbat ek juha hai bataw khelgo samajh lo dao pe Sab kuchh lagana padega

mohabbat-hindi-shayari


ये इश्क़ एक जुआ है बताओ खेलोगे ये इश्क़ एक जुआ है बताओ खेलोगे समझ लो दओ पे सब कुछ लगाना पड़ेगा।

mohabbat Kaisa hoga


 Teri bato me itne mithas hai to teri mohabbat Kaisa hoga teri gusse me itna pyar hai to tera mohabbat Kaisa hoga

mohabbat-shayari


तेरी बातो में इतना मिठास है तो तेरी मोहब्बत कैसा होगा
तेरी गुस्से में इतना प्यार है तो तेरा मोहब्बत कैसा होगा

teri mohabba


bas ek Sharab ki botal daboch Rakhi hai teri mohabbat me tujhe rulane ki tarkib Soch Rakhi hai

mohabbat-Hindi-shayari-2020


बस एक शराब की बोतल दबोच रखी है तेरी मोहब्बत में तुझे रुलाने की तरकीब सोच रखी है