16/5/20

gulzar hindi shayari - Best गुलज़ार शायरी हिंदी स्टेटस ( Latest )


gulzar shayari in hindi 


Gulzar shayari


पूछती है ख़ैरियत मेरी हर रोज वो ख्वाब में आकर 
महबूब की फ़िक्र भी मेरी कमाल की है।

puchhti hai khairiyat meri har roj wo khwab me akar
mahbub ki fikr bhi meri kamal ki hai.

Puchhti hai khairiyat meri

▫️ Gulzaar shayari
▫️ Hindi shayari
▫️ Love status shayari

बहुत मीठा नशा था उसकी यादों का
वक़्क्त गुजरता चला गया
हम आदी होते गए।

bahut mitha nasha tha uski yado ka
waqt  gujarta chala gaya
ham aadi hote gaye.

Bahut mitha nasha tha

खामोशियाँ बोल देती है जिनकी बते नही होती।
इश्क़ वो भी करते है जिनकी मुलाकाते नही होती।

khamoshiyan bol deti hai jinki bate nahi hoti.
ishq wo bhi karte hai jinki mulakate nahi hoti.

Khamoshiyan bol deti hai

वक़्क्त निकल जाने के बाद जो कद्र करे
उसे कद्र नही।
अफ़सोस कहते है।

waqt nikal jane ke bad jo kadr kare
use kadr nahi.
afsosh kahte hai.

Waqt nikal jane ke bad

kismat me aya hi kio Gulzaar - शायरी हिंदी

मुझे किस्मत से कोई शिकवा नही
मगर वो किस्मत में आया ही क्यों।
जो मुकद्दर में नही था ।

mujhe kismat se koi sikwa nahi
magar wo kismat me aya hi kio.
jo mukaddar me nahi tha.

Mujhe kismat se koi sikwa nahi

आज फिर से कोई दिल को बेहिसाब याद आ रहा है
आज फिर उससे नफ़रत की कोई वजह ढूढ़नी होगी।

aaj fir se koi dil ko behisaab yad aa raha hai
aaj fir usse nafrat ki koi wajah dhudni hogi.

Aaj fir se koi dil

साजिशो के थोड़ा हम भी शिकार हो गए
जितने दिल साफ रखा था ।
उतने ही गुन्हेगार हो गए।

sajisho ke thoda ham bhi shikar ho gaye
jitne dil saf rakha tha.
utne hi gunehgar ho gaye.

Sajiso ko thoda ham bhi

वो मन बना चुके थे हमसे दूर जाने का
और हमे लगा कि हमें मनाना नही आता।

wo man bana chuke the hamse dor jane ka
aur hame laga ki hame manana nahi aata.

Wo man bana chuke the

Hak me Dua Gulazar - हिंदी शायरी 

न जाने किसने पढ़ी है मेरे हक में दुआ
आज तबियत में थोड़ा आराम सा है

na jane kisne padi hai mere hak me dua
aaj tabiyat me thoda aaram sa hai

Na jane kisne padi hai

मुझे लिखते वक़्क्त महसूस होता है अकसर
मुझे खुद से बिछड़े जमाना हो गया।

mujhe likhte waqt mahsus hota hai aksar
mujhe khud se bichhde jamana ho gaya.

Mujhe likhte waqt mahsoos hota hai

खामोशियाँ बहुत कुछ कहती हैं
कान लगाकर नही दिल लगाकर सुनो।

khamoshiyan bahut kuchh kahti hai
kan lagakar nahi dil lagakar suno.

Khamoshiyan bahut kuchh kahti hai

Dil Nilam Ho Gaya - Gulzar shayari


बहुत देर कर दी तुमने मेरे दिल की धड़कन महसूस करने में
वो दिल नीलाम हो गया जिस पर कभी हुकूमत तुम्हारी थी।

bahut der kar di tumne mere dil ki dhadkan mahsush karne me
wo dil nilam ho gaya jis par kabhi hukumat tumhari thi.

Bahut der kar di tumne

अगर मोहबत किसी से बेहिसाब हो जाए
तो समझ जाना कि वो किस्मत में नही है।

agar mohabbat kisi se behisaab ho jaye
to samajh jana ki wo kismat me nahi hai.

Agar mohabbat kisi se

बनाकर उसने मेरे संग रेत का महल
न जाने उसने बारिश को खबर कर दी।

banakar usne mere sang ret ka mahal
na jane usne barish ko khabar kar di.

Banakar usne mere sang ret

Advertiser